भाकृअनुप-केंद्रीय शुष्क बागवानी संस्थान

Regional Station CHES Godhra

केन्द्रीय बागवानी परीक्षण केन्द्र
भाकृअनुप-केशुबासं, गोधरा-वडोदरा राजमार्ग, वेजलपुर-389340
पंचमहल (गुजरात)

केन्द्रीय बागवानी परीक्षण केन्द्रा, वेजलपुर (गोधरा) में 29 मार्च 1979 को स्था पित हुआ था। इस केन्द्री की स्था पना भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान, बंगलौर के तत्वावधान में पश्चिमी भारत के राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात राज्यों के आदिवासी क्षेत्रों में बागवानी को बढ़ावा देने हेतु की गयी थी। इस केन्द्रर का मुख्या लय गोधरा शहर से 15 किलोमीटर की दूरी पर गोधरा-वडोदरा हाईवे पर स्थित है। इस केन्द्रा की प्रारंभिक प्रगति पानी की सुविधा न मिल पाने के कारण कुछ धीमी रही। गुजरात सरकार ने सिंचाई का पानी उपलब्ध कराने के लिए पनम नहर से एक पाइप लाइन जोड़ने के बाद फार्म पर बगीचे लगाने का कार्य वर्ष 1983 से आरंभ किया गया। 1 अक्टूबर 2000 से इस केन्द्र को बंगलौर के भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान से अलग कर बीकानेर नव उन्नत केन्द्रीय शुष्क बागवानी संस्थान के साथ जोड़ दिया गया था।

उद्देश्य

केन्द्र पर कार्यकर्त वैज्ञानिक
अध्यक्ष
भाकृअनुप-(केशुबासं) केन्द्रीय बागवानी परिक्षण केंद्र
गोधरा-वडोदरा राजमार्ग, वेजलपुर-389340
दूरभाष : 02676-234657
फैक्स : 02676-234657, ई मेल : chesvejalpur@gmail.com
न्यूज़
Important Links
फसल सुधार समावेशन, चयन और संकर के द्वारा
फसल सुधार कृषि तकनीकों का मानकीकरण , पत्ती पोषक तत्व गाइड, खरपतवार नियंत्रण के तरीकों और पौधों की वृद्धि नियामकों के उपयोग का विकास।
फसल सुरक्षा कीड़े, कीट, नेमाटोड , कवक , वायरल और बैक्टीरियल रोग, समन्वित कीट प्रबंधन के विकास का नियंत्रण ।
फसल उपयोगिता परिपक्वता मानकों , हैंडलिंग, भंडारण और प्रसंस्करण सहित बागवानी फसलों के पोस्ट हार्वेस्ट फिजियोलॉजी।
प्रौद्योगिकी का हस्थानांतरण वैज्ञानिक ज्ञान के हस्तांतरण क्षेत्र और किसानों के उत्थान के प्रभावी बागवानी विकास के लिए इस क्षेत्र के आदिवासी किसानों के उथान हतु