symbol of Indian Council of Agricultural Research ICAR-Central Institute for Arid Horticulture
 
brainstorming
brainstorming2
brainstorming3
brainstorming4
brainstorming5
brainstorming6
brainstorming7
brainstorming8
brainstorming9
brainstorming10
brainstorming11
visitor1
visitor2
visitor3
visitor4
visitor5
training 1
training 2
training3
training4
training5
training6
asrb chariman
asrb chariman1

Farmers Advisory
शुष्‍क बागवानी पर किसानों को सलाह

किसानों के लिए शुष्‍क बागवानी फ़सलों के बारे में सलाह-5

किसानों के लिए शुष्‍क बागवानी फ़सलों के बारे में सलाह-4

किसानों के लिए शुष्‍क बागवानी फ़सलों के बारे में सलाह-3

किसानों के लिए शुष्‍क बागवानी फ़सलों के बारे में सलाह-2

किसानों के लिए शुष्‍क बागवानी फ़सलों के बारे में सलाह-1

read more.........

A caratenoids rich watermelon

It is one of the most widely cultivated crops in the world and its global consumption is greater than that of any other cucurbit. widely cultivated in India. carbohydrates (6.4 g/ 100g), vitamin A (590 IU) and lycopene (4100 varieties. Presently the red fleshed varieties are widely cultivated in India amount of carotenoid content. is demand of varieties rich in varieties is often a challenge to attract consumers. possess varying flesh colour nutrients. Keeping in view, identified watermelon (YF 5-2-7) which content (8.70-9.61 µg/ g FW) in comparison to 4.14 µg /g FW carotenoid content. having dark green rind with very narrow stripes 7 produced round fruits weighing 2.5 3-4 fruits/ plant. Read More



Virtual IRC Meeting, ICAR-CIAH, Bikaner


The virtual Institute Research Committee meeting was started today dated 13-07-2020 at 10.30 AM. The meeting was chaired by Prof. (Dr.) P. L. Saroj, Director, ICAR-CIAH, Bikaner. All scientists of the Bikaner and CIAH Regional Station, CHES, Vejalpur were attended the meeting. The meeting was inaugurated by Dr. B. K. Pandey, ADG (HS), ICAR, New Delhi.

संस्थान की राजभाषा पत्रिका ''मरु बागवाणी'' को गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार

संस्था।न की राजभाषा पत्रिका ''मरु बागवाणी'' को गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्का र भाकृअनुप.-केन्द्रीय शुष्क बागवानी संस्थान, बीकानेर (राजस्थारन) की राजभाषा पत्रिका 'मरु बागवाणी' को भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद्, नई दिल्लीं के द्वारा 'क' और ख'' क्षेत्रों में स्थित संस्थाानों की श्रेणी में दिया जाने वाला 'गणेश शंकर विद्यार्थी राजभाषा पत्रिका पुरस्का र (2018-19) का प्रथम पुरस्काार प्रदान किया गया है। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक प्रो (डॉ.) पी.एल. सरोज ने बताया कि भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद्, नई दिल्ली के देश भर में फैले 114 संस्था्नों की हिंदी की उत्कृथष्टश पत्रिकाओं को प्रतिवर्ष यह पुरस्का्र दिया जाता है। वर्ष 2018-19 का यह प्रथम पुरस्काीर इस संस्थाेन की वार्षिक हिंदी पत्रिका 'मरु बागवाणी' को प्राप्त हुआ है। यह इस संस्थान एवं बीकानेर के लिए गौरव की बात है।


भाकअनुप-केन्‍द्रीय शुष्‍क बागवानी संस्‍थान में टिड्डी दल का हमला


एक तरफ जहां कोरोना की भयंकर महामारी से सभी प्रभावित है वहीं केन्‍द्रीय शुष्‍क बागवानी संस्‍थान, बीछवाल, बीकानेर के अनंसधान फार्म में आज दिनांक 20.05.2020 को लगभग 12:30 बजे एक बहुत बड़े टिड्डी दल ने दस्‍तक दी। यह टिड्डी दल लगभग एक घण्‍टे तक संस्‍थान परिसर में एवं शोध प्रक्षेत्र की विभिन्‍न फसलों पर मंडराता रहा है तथा कई फसलों जैसे ककड़ी, खेजड़ी अनार, किन्‍नों इत्‍यादि को नुकसान भी पहुंचाया। इस टिड्डी पर काबू पाने के लिए निदेशक महोदय के निर्देश में सभी वैज्ञानिकों, तकनीकी कर्मचारियों व श्रमिकों की सहायता से काबू पाया गया। भविष्‍य में किसी भी प्रकार के नुकसान से बचने के लिए कड़ी निगरानी रखी जा रही है।

institute building About the Institute
The ICAR-Central Institue for Arid Horticulture is involved in research and development work of horticultural fruit and vegetable since 1993. The recurrent drought and extreme aridity are common phenomena. The average rainfall is about 230 mm/annum. May-June are hottest months (mean maximum temperature 42.9 0C and mean nimumun temperature 29.6 0C and December-January are coldges months of the year (mean maximum temperature 23.70C and mean minimum temperature 8.9 0C. Occasional frost is also experienced durign January and February. The soil of the area is sandy, desertic, poor in fertility and water holding capacity.


News
Important Links